स्वस्थ, सुन्दर, साफ़ सुथरा और कांतिमय चेहरे के लिए अपनाये ये नुस्खे

0
3137
Remedies for Healthy, Beautiful, Clean and Contemplative face
Remedies for Healthy, Beautiful, Clean and Contemplative face

स्वस्थ, सुन्दर, साफ़ सुथरा और कांतिमय चेहरे के लिए अपनाये ये नुस्खे (Remedies for Healthy, Beautiful, Clean and Contemplative face): त्वचा का स्थान शरीर की सुन्दरता में सबसे अहम है| कुछ नेचुरल टिप्स अपनाएँ तो त्वचा की नजाकत को बरक़रार रखा जा सकता है  क्यूंकि मौसम व वातावरण का प्रभाव इसे सबसे ज्यादा प्रभावित करता है|

Remedies for Healthy, Beautiful, Clean and Contemplative face

त्वचा शरीर के लिए एक सुरक्षाकवच का कार्य करती है जो अंदर की गंदगी को पसीने के रूप में बाहर निकालने के साथ-साथ बढ़ते बालों का पोषण में मदद भी करती है |

स्वस्थ, सुन्दर, साफ़ सुथरा और कांतिमय चेहरे के लिए अपनाये ये नुस्खे

मानव शरीर हवा, पानी व धूप के संयोग से फलती फूलती है और असंतुलित होने पर शरीर बेजान और मुरझाने लगता है | पौष्टिक तत्वों की कमी से शरीर में पनप रहे रोगों, मौसम की मार आदि का त्वचा पर सीधा प्रभाव पड़ता है | लेकिन यदि हम त्वचा की ठीक तरह देखभाल करें| त्वचा को हमेशा सुन्दर और जंवा बनाये रख सकते हैं और उम्र के अनुसार आते हुए बदलाव को भी धीमा कर सकते हैं|

सामान्य त्वचा

सबसे अच्छी त्वचा सामान्य त्वचा मानी जाती है| त्वचा की सुरक्षा, सुन्दर व् कोमल बरकरार रखने के लिए नहाने से पहले त्वचा पर गाजर का रस या पुदीने की पत्तियों का रस लगाएं और 10 मिनट बाद धो दें | इस विधि से त्वचा की कांति लंबे समय तक बनी रहेगी |

रुखी त्वचा

पपड़ीदार व धारीदार त्वचा रुखी त्वचा होती है| इसकी सुरक्षा के लिए आंखों के आसपास की त्वचा को बचाते हुए सप्ताह में एक बार बादाम के पेस्ट या जई के आटे से त्वचा की सफाई करें| बाद में पोछकर या धोकर हटा दें|

खरबूजे का रस चेहरे पर 10-15 मिनट लगाएं, फिर बाद ठंडे पानी से धो दें | इससे त्वचा की रंगत निखर उठती है| भोजन में दूध व दही की मात्रा बढ़ाएं |

तैलीय त्वचा

तैलीय त्वचा पर तिल ज्यादा होते हैं और ऐसी त्वचा अधिक चमकती है| ऐसी त्वचा होने पर दिन में तीन बार चेहरे की सफाई करें | मुलतानी मिट्टी, जई का आटा व बादाम का पेस्ट की बहुत अच्छी सफाई करते हैं | इन में से किसी एक का प्रयोग करें | खीरे का रस चेहरे पर लगाएं तथा 10-15 मिनट बाद धो दें जिससे त्वचा में ताजगी आ जाती है | इसके अलावा नीबू का रस भी लगाया जा सकता है |

तैलीय त्वचा को साफ करने के लिए मुट्ठी भर गेंदे के फूलों की पंखुड़ियों को ले कर एक कप खौलते पानी में डालकर डुबो दें| 8-10 मिनट बाद जब पानी कुछ कम गर्म रह जाए तब पंखुड़ियों को निकालकर पीसकर गूदा बना लें और त्वचा पर अच्छी तरह से लगा कर 6-7 मिनट बाद सूखने पर ठंडे पानी से धो लें |

मिश्रित त्वचा

मिश्रित त्वचा कुछ जगह रूखापन तो कुछ भागों पर तैलीयता रहती है| इसकी सफाई कुछ कठिन है क्योंकि इसमें ऐसी त्वचा में नाक और ठुड्डी प्रायः तैलीय जबकि गाल, कनपटी और माथा के साथ आंख के समीप की त्वचा भी रुखी रहती है | चिपचिपे क्षेत्रों पर चन्दन, मुल्तानी मिटटी, खीरा का पाउडर या अन्य फल का फेस पैक लगाकर 15 मिनट बाद साफ करें |

त्वचा के विकार की रोकथाम

ताजे फल, सलाद और कच्ची सब्जियों के रस का सेवन त्वचा के विकार के रोकथाम के लिए बहुत फयदेमंद होता है| घी, मसाले, चिकने पदार्थ, अचार से परहेज करें और साथ ही चाय, काफी व मिठाई का सेवन बहुत कम करें|

गुड़ या शहद का सेवन चीनी की जगह करें| आधा छोटा चम्मच पिसी हुई नीम की पत्तियों का पाउडर, चुटकी भर हल्दी और 1 छोटा चम्मच बेसन मिलाकर चेहरे पर लगाने से कीलमुंहासे दूर होते हैं| आधा चम्मच मुलतानी मिट्टी में काली मिर्च पाउडर को गुलाबजल में घोलकर लगाने से त्वचा के मुंहासे सूख जाते हैं |

त्वचा के कौन कौन से विकार होते हैं 

  1. झांइयां

चेहरे पर झांइयां कैलशियम और विटामिनों की कमी से होने लगती है| जो ताजे फलों, हरी सब्जियों का सेवन करके दूर कर सकते हैं| नींद पूरी नहीं लेने से भी आँखों की थकान भी झांइयां पैदा करती है| अतः पूरी नींद लें| तुलसी के पत्तों को कच्चे नारियल के साथ पीसकर तैयार लेप को झांइयों पर लगाएं| कुछ दिनों में ही लाभ दिखाई देने लगेगा |

100 ग्राम संतरे के छिलके छाया में सुखाकर पीस लें| इतनी ही मात्रा में बाजरे का आटा, 10 ग्राम दही, नीबू का रस मिलाकर लगाने से भी झांइयां दूर होती हैं |

  1. रूखापन

त्वचा का रूखापन रोज सुबह-शाम एक-एक गिलास गाजर का रस पीने से दूर होकर त्वचा कोमल व चिकनी हो जाती है| 2 छोटे चम्मच जई के आटे में 1 छोटा चम्मच दही और 5 बूंदें शहद अथवा जैतून का तेल मिलाकर लगाने से शुष्क त्वचा चमकने लगती है |

आधा कप दूध, 2 बड़े चम्मच जई का आटा, 2 छोटे चम्मच गुलाबजल लें| दूध में पहले जई के आटे मिलाएं और हल्की आंच पर गर्म करें| इस पेस्ट के मुलायम होते ही इस में गुलाबजल अच्छी तरह मिला दें| कुनकुना पेस्ट चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 20 मिनट बाद पानी से धो लें| यह जादुई मास्क दागदार त्वचा को जीवन प्रदान करता है |

  1. चेचक के दाग

मुलतानी मिट्टी और चन्दन का फेस पैक सप्ताह में एक बार भाप लेकर लगाएं| 1 छोटा चम्मच मुलतानी मिट्टी में आधा छोटा चम्मच टैलकम पाउडर, एक छोटा आधा चम्मच चन्दन पाउडर, थोड़ी सी ग्लिसरीन और नीबू के रस की कुछ बूंदें डाल कर गुलाबजल की सहायता से गाढ़ा पेस्ट बनाएं| चेहरे पर  इस फेस पैक को आधे घंटे तक लगा रहने दें |बाद में कुनकुने पानी से धो लें| सोयाबीन के आटे से तैयार पेस्ट को  सप्ताह में दो बार चेहरे पर लगाते रहने से भी चेचक के दाग हल्के पड़ने लगते हैं |

  1. त्वचा की झुलसन

1 छोटा चम्मच नीबू का रस, आधा छोटा चम्मच गुलाबजल, आधा छोटा चम्मच ग्लिसरीन, बिना छिलका उतारे 1 ताजा खीरा लें| खीरे को खूब महीन काटकर और महीन पीस लें और उसके बाद उसको छान कर उसका रास निकाल लें| इस रस में शेष सभी चीजों को अच्छी तरह से मिला लें | साफ रुई के फाहे को इस तैयार घोल में डुबोकर त्वचा पर लगाएं और 10-15 मिनट बाद धो लें |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here