सरकार ना ले अब इम्तिहान, लेकर रहेंगे भोजपुरी का सम्मान – संतोष पटेल

0
456

भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता व् आठवीं अनुसूची में शामिल कराने के माँग को लेकर “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के बैनर तले राष्ट्र स्तर पर चलाये जा रहे भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन के तहत आगामी 9 अगस्त 2017, दिन बुधवार के सातवाँ विशाल धरना प्रदर्शन के आयोजन अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल जी के नेतृत्व में दिल्ली के जंतर मंतर पर होना सुनिश्चित हुवा है।

भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन “भोजपुरी जन जागरण अभियान” देश भर मे भोजपुरी के संविधान में शामिल कराने के लिए जी जान से संघर्ष कर रही है| साथ ही साहित्य आ संस्कृति के सहेजने के साथ मधुर भाषा भोजपुरी में फैली अश्लीलता दूर करने के लिए भी लड़ाई लड़ रही है|

इस से पहले “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के बैनर तले 6 अगस्त 2015, 10 दिसम्बर 2015, 21 फ़रवरी 2016 , 8 अगस्त 2016, 15 नवम्बर 2016 तथा 21 फ़रवरी 2017 के लगातार धरना प्रदर्शन कर के आवाज सरकार तक पहुँचाया जाता रहा है और ज्ञापन एवं माँग पत्र प्रधानमंत्री,गृहमंत्री और अन्य मंत्री,सांसद को भी दिया गया है।

कुछ सांसद और मंत्री भी समर्थन में आगे आकर भोजपुरी के सम्मान में इसके मांग को संसद में जोरदार तरीके से रखे भी हैं परन्तु राजनितिक दांव पेंच में भोजपुरी को सही मान अब तक नहीं मिला जिसको लेकर भोजपुरी माटी के कर्मठ बेटे एक बार फिर संसद के मानसून सत्र में सातवाँ धरना प्रदर्शन जंतर मंतर पर करने की तैयारी में हैं।

इस धरना में छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, चम्पारण, मध्यप्रदेश, बिहार, झारखंड, के अलावा मुम्बई, कोलकाता, असम और देश के विभिन्न भोजपुरी क्षेत्रों से भोजपुरी भाषा भाषी व प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। उक्त बातें भोजपुरी जान जागरण अभियान के कर्मठ सिपाही व् राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल से वार्ता में पता चली| उन्होंने ने बताया की पूर्वांचल एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाई शिवजी सिंह भी 9 अगस्त के धरना में शामिल हो रहे हैं और इस बार हर बार से ज्यादा आवाज बुलंद होगी और कई अन्य भोजपुरी संस्थाओं के साथ अन्य भोजपुरी क्षेत्रों के संस्था इस बार एकजुट होने की तयारी में है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here