मुख्यमंत्री नितीश की खुली चुनौती: यूपी बिहार में चुनाव करा ले भाजपा

0
276

काफी दिनों बाद १२ जून दिन सोमवार को नीतीश ने भाजपा व् पीएम मोदी के खिलाफ सीधा हमला बोला। देश के अलग-अलग हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलनों को लेकर मुख्यमंत्री ने अपनी बात रखी और भाजपा को खुली चुनौती दे डाली| मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने किसानों के लिए राष्ट्रीय नीति नहीं बनाने को लेकर मोदी सरकार की खिंचाई की। यह बात उन्होंने सोमपार को प्रेस कांफ्रेंस में कही| उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राष्ट्रपति महात्मा गाँधी पर किये गए टिपण्णी को लेकर भी निशाना साधा और कड़ी निंदा की| वही कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह भी नितीश के निशाने पर रहे| नितीश कुमार ने बाबा रामदेव के साथ उनके गलत योग आसान पर मजाक बनाया| नीतीश कुमार ने साथ ही पीएम मोदी को बिहार और यूपी में अभी चुनाव कराने को लेकर खुली चुनौती भी दे डाली उन्होंने कहा कि हिम्मत है तो एक साथ बिहार-यूपी में चुनाव करा लें, हम तैयार हैं। मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि 2014 के चुनाव से पहले भाजपा ने किसानों के मुद्दे पर तमाम वादे किए थे और वो सारे वादे भाजपा के घोषणापत्र में शामिल की गई थीं| नीतीश कुमार ने कहा कि आज किसानों को उनकी उपज की उचित कीमत नहीं मिल रही है। मुख्यमंत्री ने मंदसौर और महाराष्ट्र के किसान आंदोलनों के संदर्भ में भी अपनी बात राखी| उन्होंने कहा कि लोन माफ कर देने पर राहत तो मिल जाएगी लेकिन कृषि संकट दूर नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा और भाजपा गठबंधन के नेता जिन्होंने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की है, वे सभी अगर लोकसभा सदस्य पद से इस्तीफा दे दें तो मैं चुनाव के लिए तैयार हूं। उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा दिए गए टिपण्णी जिसमे मौर्या ने कहा था कि बिहार में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब है। साथ ही नितीश पर निशाना साधते हुए उन्होंने पूछा था की 2019 तो दूर है, नीतीश कुमार यह बताएं कि बिहार में कब मध्यावधि चुनाव कराना है। इसी बात व् टिपण्णी को लेकर नितीश कुमार ने अपना जवाब प्रेस कांफ्रेंस में रखा और भाजपा को चुनाव कराने को लेकर खुली चुनौती दे डाली|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here